मुंबई  । महान बल्लेबाज सचिन तेंडुलकर ने आदिवासी बच्चों की सहायता के लिए एक गैर सरकारी संगठन (एनजीओ) के साथ करार किया है। सचिन ने इस ‘एनजीओ परिवार’ के साथ मिलकर मध्य प्रदेश के सीहोर जिले के दूरदराज के गांवों में सेवा कुटीर का निर्माण किया है जिससे करीब 560 बच्चों को सहायता मिल रही है। इस जिले के सेवानिया, बीलपति, खापा, नयापुरा और जामुनझील गांव के बच्चों को इस संस्था की सहायता से पौष्टिक भोजन और शिक्षा प्रदान की जा रही हैं। ये बच्चे मुख्य रूप से बरेला भील और गोंड जनजातियों से हैं। इस एनजीओ ने कहा, ‘सचिन की यह पहल मध्य प्रदेश के उन आदिवासी बच्चों के प्रति उनकी चिंता का प्रमाण है, जो कुपोषण और अशिक्षा से परेशान हैं।’ तेंडुलकर यूनिसेफ के सद्भावना दूत के रूप में नियमित रूप से ‘बच्चों के प्रारंभिक विकास’ जैसे जरूरी मामलों पर सक्रिय रहे हैं।