नई दिल्ली । म्यूचुअल फंड उद्योग के निवेशक खातों की संख्या में जुलाई 2020 के दौरान 5.6 लाख की वृद्धि हुई, जिसके साथ कुल निवेशक खातों की संख्या बढ़कर 9.2 करोड़ हो गई। बढ़ोतरी में मुख्य रूप से ऋण योजनाओं का योगदान रहा।इसके पहले जून में उद्योग ने पांच लाख नए खातों को जोड़ा था। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया के मुताबिक 45 म्यूचु्अल फंड कंपनियों के खातों की संख्या बढ़कर 9.21 करोड़ हो गई,जो जून के अंत में 9.15 करोड़ थी। इसमें 5.63 लाख की बढ़ोतरी हुई। इस दौरान कुल नए खातों में चार लाख से ज्यादा डेट कोषों में जोड़ा गया। बाजार विशेषज्ञों का कहना है कि खातों की संख्या में बढ़ोतरी से पता चलता है कि निवेशक बाजार में उतार-चढ़ाव से प्रभावित नहीं हुए। साथ ही वे म्यूचुअल फंड योजनाओं से जुड़े बाजार जोखिमों के बारे में अच्छी तरह समझते हैं। इस क्षेत्र ने मई में 6.13 लाख निवेशक खाते, अप्रैल में 6.82 लाख निवेशक खाते और मार्च में 9.1 लाख निवेशक खाते जोड़े।