महाशिवरात्रि का पर्व शिव जी को समर्पित माना जाता है। इस पर्व के दिन शिव की पूजा करने से बड़े बड़े लाभ मिलते हैं। वैसे आपको हम यह भी बता दें कि इस साल महाशिवरात्रि का पर्व पंचांग के अनुसार 11 मार्च 2021 गुरुवार को आ रहा है। ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं महाशिवरात्रि व्रत के दिन क्या करना चाहिए और पूजा का शुभ मुहूर्त।

महाशिवरात्रि: 11 मार्च 2021
निशिता काल पूजा समय: 00:06 से 00:55, मार्च 12
अवधि: 00 घण्टे 48 मिनट
12 मार्च 2021: शिवरात्रि पारण समय - 06:34 से 15:02
रात्रि प्रथम प्रहर पूजा समय: 18:27 से 21:29
रात्रि द्वितीय प्रहर पूजा समय: 21:29 से 00:31, मार्च 12
रात्रि तृतीय प्रहर पूजा समय: 00:31 से 03:32, मार्च 12
रात्रि चतुर्थ प्रहर पूजा समय: 03:32 से 06:34, मार्च 12
चतुर्दशी तिथि प्रारम्भ: 11 मार्च को 14:39 बजे
चतुर्दशी तिथि समाप्त: 12 मार्च को 15:02 बजे

महाशिवरात्रि के दिन क्या करना चाहिए- कहा जाता है शिवरात्रि के दिन स्नान करने के बाद व्रत का संकल्प लेना चाहिए। उसके बाद विधिवत पूजा आरंभ करनी चाहिए। ध्यान रहे पूजा के दौरान कलश में जल या दूध भरकर शिवलिंग पर चढ़ाना चाहिए। अब शिवलिंग को बेलपत्र, आक फूल, धतूरे के फूल आदि भी अर्पित करने चाहिए। वहीं उसके बाद शिवपुराण, महामृत्युंजय मंत्र, शिव मंत्र और शिव आरती का पाठ करना चाहिए। आप चाहे तो इन सभी में से कोई एक भी कर सकते हैं। कहा जाता है महाशिवरात्रि पर रात्रि जागरण करने से भी बड़े लाभ मिलते है।