नई दिल्ली । दिल्ली सरकार द्वारा गठित डॉक्टरों की पांच सदस्यीय डॉ. महेश वर्मा कमेटी ने अपनी रिपोर्ट सौंप दी है। रिपोर्ट में कहा गया है कि राजधानी की स्वास्थ्य व्यवस्थाओं का इस्तेमाल केवल दिल्लीवासियों के लिए किया जाना चाहिए। अगर बाहरी लोगों को इलाज की अनुमति दी जाएगी तो यहां के अस्पताल तीन दिन के भीतर 100 प्रतिशत भर जाएंगे।

दिल्ली सरकार ने इंद्रप्रस्थ यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर डॉ. महेश वर्मा की अध्यक्षता में डॉक्टरों की पांच सदस्यीय कमेटी गठित की थी। कमेटी को राजधानी में कोविड अस्पतालों की तैयारी, स्थिति, चिकित्सा सुविधाओं की उपलब्धता और दिल्ली के बाहर के रोगियों को चिकित्सा सहायता प्रदान करने पर एक रिपोर्ट तैयार करने को कहा गया था।

कमेटी गठित करने का आदेश मंगलवार को जारी किया गया था। आदेश में कहा गया था कि कमेटी कोविड‑19 से निपटने के लिए स्वास्थ्य सेवा के बुनियादी ढांचे में सुधार और अस्पतालों की समग्र तैयारी को मजबूत करने के लिए दिल्ली सरकार का मार्गदर्शन करेगी।

कमेटी के अन्य सदस्यों में डॉ. वर्मा के अलावा जीटीबी अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉ. सुनील कुमार, दिल्ली मेडिकल काउंसिल के अध्यक्ष डॉ. अरुण गुप्ता, दिल्ली मेडिकल एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष डॉ. आरके गुप्ता और मैक्स अस्पताल के समूह चिकित्सा निदेशक डॉ. संदीप बुद्धिराजा शामिल हैं।