रायपुर. कोरोना वायरस (Corona Virus) की रोकथाम में मदद करने के लिए 4750 वॉलंटियर्स (Volunteers) सामने आए हैं. राज्य सरकार के मुताबिक इन वॉलंटियर्स  में चिकित्सक (Health), नर्सिंग (Nursing) एवं पैरामेडिकल स्टाफ (Paramedical Staff) , फार्मसिस्ट, फिजियोथेरेपिस्ट, आयुष के जानकार, समाजसेवी संस्थाओं के लोग और वाहन चालक शामिल है. राज्य के 4750 वॉलंटियर्स  ने स्व-स्फूर्त रूप से अपना सहयोग दिए जाने की सहमति दी है. वॉलंटियर्स की सेवाभावना को स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव (Health Minister TS Singhdeo) ने भी सराहा है.

मालूम हो कि कोरोना वायरस के चलते पूरे विश्व के कई देशों सहित भारत में लॉकडाउन की स्थिति बनी हुई है. छत्तीसगढ़ में भी कोरोना वायरस के रोकथाम के लिए कई स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं. लोगों का राहत पहुंचाने के मकसद से बड़ी संख्या में वॉलंटियर्स  की जरूरत के मद्देनजर स्वास्थ्य विभाग ने लोगों से स्व-स्फूर्त रूप से आगे आने और अपनी सहमति देने की अपील की थी. अब स्वैच्छिक रूप से 4750 लोगों ने अपनी सहमति स्वास्थ्य विभाग को दे दी है. वहीं स्वास्थ्य मंत्री टीएस सिंहदेव ने सभी वॉलंटियर्स की सेवाभावना की सराहना करते हुए कहा है कि आप सब ने संकट की इस घड़ी में स्व-स्फूर्त रूप से सहयोग देने की सहमति देकर हम सबका मनोबल बढ़ाया है.

 

ये करेंगे मदद


मालूम हो कि स्वास्थ्य विभाग ने बीते दिनों चिकित्सकीय विशेषज्ञ, चिकित्सक, आयुष, पैरामेडिकल स्टाफ, चिकित्सा क्षेत्र से जुड़े परामर्शदाता, स्वयं सेवी संगठन अथवा गैर चिकित्सकीय क्षेत्र से जुड़े कार्यकर्ताओं से स्वैच्छिक रूप से सहायता की अपील की थी और वॉलिटिंयर्स से सहमति प्राप्त करने के लिए जारी मोबाइल नम्बर 96910-90000 और 79873-67089 सार्वजनिक रूप से जारी किया था.

विभाग की इस अपील को देखते हुए छत्तीसगढ़ राज्य में विभिन्न सामाजिक संगठनों एवं ट्रस्ट से जुड़े 801 लोगों ने, 200 आयुष चिकित्सकों ने, 224 मेडिकल चिकित्सकों ने, 360 नर्स ने, 234 पैरामेडिकल ने, फर्मास्यिूटिकल क्षेत्र से जुड़े 206 लोगों ने, 17 फिजियोथेरेपिस्ट ने, 1167 व्यवासायियों एवं स्व-रोजगारियों ने तथा तकनीकी एवं नॉन तकनीकी क्षेत्र से जुड़े 500 वॉलंटियर्स  ने कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए स्वैच्छिक रूप से सहयोग की सहमति दी है.