रायपुर। मुख्यमंत्री  भूपेश बघेल ने वन विभाग के संजीवनी, हर्बल उत्पाद विक्रय केन्द्र का लोकार्पण कर जंगलबाजार (गढ़कलेवा) का निरीक्षण किया।   बघेल ने संजीवनी औषधि केन्द्र में बिक्री के लिए रखे हर्बल उत्पाद, ग्रीन-टी, सीटीसी चाय, महुआ से बने सेनेटाइजर, शहद, च्यवनप्राश, काजू, तिखूर, चिराैंजी आदि उत्पादों का अवलोकन किया। उन्होंने इस दौरान महुआ से बने लड्डू का भी स्वाद लिया। गढ़कलेवा जंगल बाजार पहुंचने पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का सादरी एवं उरांव बोली में गीत-संगीत के साथ स्वागत किया गया।  
    मुख्यमंत्री नेे वन विभाग एवं डी.एम.एफ. मद से स्व-सहायता समूह की महिलाओं को रोजगार से जोडने के उद्देश्य से स्वयं का स्थानीय स्तर पर बाजार उपलब्ध कराने के लिए तैयार किए गए जंगल बाजार एवं गढ़कलेवा का निरीक्षण कर व्यवस्था की जानकारी ली। उल्लेखनीय है कि जंगल बाजार गढ़कलेवा में जशपुर की महिला स्व-सहायता समूह के लिए स्टाल उपलब्ध कराया गया है। यहां स्थानीय गीत, संगीत और नृत्य के साथ महिलाओं के हाथो से बने स्थानीय लजीज व्यजनों का स्वाद लोगों को मिलेगा।
     मुख्यमंत्री द्वारा गढ़कलेवा जंगलबाजार के अवलोकन के दौरान खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति तथा जिले के प्रभारी मंत्री  अमरजीत भगत, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल, लैलूंगा विधायक  चक्रधर सिंह सिदार, धरमजयगढ़ विधायक  लालजीत सिंह राठिया, रायगढ़ विधायक  प्रकाश नायक, जशपुर विधायक  विनय भगत, सारंगढ़ विधायक श्रीमती उत्तरी जागड़े, कमिश्नर सुश्री जे. किंडो, पुलिस महानिरीक्षक रतन लाल डांगी, कलेक्टर  महादेव कावरे, पुलिस अधीक्षक  बालाजी राव सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि मौजूद थे।