चंडीगढ़ 
करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए पाकिस्तान जाने से पहले पंजाब में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान और कांग्रेस नेता नवजोत सिंह सिद्धू के तस्वीरों वाले पोस्टर देखने को मिले हैं. इन पोस्टरों में एक तरफ इमरान खान और दूसरी तरफ सिद्धू की तस्वीर लगी है जिसको लेकर पंजाब में सियासत फिर से गरमा गई है.

सिद्धू और इमरान की तस्वीरों वाले पोस्टर्स में दोनों को असली हीरो बताया गया है. पोस्टर्स के लगने के बाद भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने सिद्धू को पाकिस्तान का आईएसआई एजेंट करार दिया. हालांकि, तस्वीरों के तेजी से शेयर होने के बाद तुरंत इन्हें हटा दिया गया है.

इमरान खान का पोस्टर लगाना गलतः बीजेपी
बीजेपी प्रवक्ता राजेश हनी ने कहा कि अमृतसर में पाक प्रधानमंत्री इमरान खान के साथ नवजोत सिंह सिद्धू के पोस्टर का लगना गलत है. करतारपुर गलियारे का क्रेडिट नवजोत सिंह सिद्धू को नहीं बल्कि केंद्र सरकार को जाता है.

राजेश हनी ने कहा कि पोस्टर में इमरान खान और नवजोत सिद्धू को हीरो बताया गया है. सिद्धू आईएसआई के एजेंट के तौर पर पहले भी काम करते थे और अब भी कर रहे हैं. सिद्धू देशद्रोही हैं और आईएसआई के हाथों खेलकर देश का माहौल खराब कर रहे हैं.

जानकारी के मुताबिक वेरका के एक पार्षद मास्टर हरपाल सिंह ने ये पोस्टर लगाए हैं. उन्होंने कहा कि करतारपुर गलियारे के लिए प्रयास करने वाले दोनों नेताओं को बधाई देना चाहता हूं इसलिए ये पोस्टर लगवाए हैं. साथ ही हरपाल सिंह ने कहा कि बुधवार को और कई पोस्टर लगाए जाएंगे.


पाकिस्तान से आया निमंत्रण
इससे पहले पाकिस्तान से निमंत्रण स्वीकार करने के बाद पंजाब के पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने शनिवार को विदेश मंत्री एस. जयशंकर से करतारपुर गलियारे के उद्घाटन समारोह में शामिल होने के लिए सरकारी मंजूरी मांगी .

सिख धर्म के संस्थापक गुरु नानक देव की 550वीं जयंती से तीन दिन पहले यह समारोह आयोजित होगा. पाकिस्तान की इमरान खान सरकार द्वारा 9 नवंबर को करतारपुर गलियारे (कॉरिडोर) के उद्घाटन में भाग लेने के लिए सिद्धू को आमंत्रित किया गया. क्रिकेटर से राजनेता बने सिद्धू ने पाकिस्तान का यह निमंत्रण स्वीकार कर लिया है.

पहले राजनीतिक मंजूरी जरूरी
भारत सरकार ने पहले ही कह रखा है कि पाकिस्तान सरकार द्वारा आमंत्रित किए गए सभी लोगों को पहले राजनीतिक मंजूरी लेनी होगी. इस आधार पर निमंत्रण मिलते ही सिद्धू ने शनिवार को पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह और विदेशमंत्री एस जयशंकर से इस कार्यक्रम में भाग लेने की अनुमति मांग ली.

पाक प्रधानमंत्री इमरान खान के निर्देश पर सत्तारूढ़ पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के सीनेटर फैसल जावेद ने नवजोत सिंह सिद्धू से संपर्क किया और इस सप्ताह की शुरुआत में उन्हें इस समारोह के लिए आमंत्रित किया. इस पर सिद्धू ने कहा कि दुनियाभर से सिख समुदाय अपने आध्यात्मिक गुरु नानक देव से जुड़े पवित्र मंदिर के दर्शन के लिए उत्सुक हैं.

पिछले साल अगस्त में नवजोत सिंह सिद्धू ने इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में भी शिरकत की थी, जिसकी भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने काफी आलोचना की थी.