थायराइड रोग आज तेजी से अपने पैर पसार रहा है। पुरूषों के मुकाबले इसकी ज्यादा शिकार महिलाएं हैं। गलत खानपान और बदलते लाइफस्टाइल के कारण यह समस्या आज बहुत आम हो गई है। थायराइड का संबंध हार्मोंनस के बिगड़ते संतुलन से हैं। जब यह आऊट ऑफ कंट्रोल हो जाते हैं तो महिलाओं के शरीर में दिक्कतें दिखना शुरु हो जाती है।

थायराइड क्या है?
थायराइड एक एंडोक्राइन ग्लैंड जो गले में बटरफ्लाई के आकार का होता है। इससे थायराइड हार्मोन निकलता है जो शरीर में मेटाबॉलिज्म को सही लेवल में रखता हैं लेकिन जब यह हार्मोंन असंतुलित हो जाता है तो यह समस्या शुरु होने लगती है।


यह दो तरह का होता है...
थायराइड दो तरह का होता है हाइपो थायराइड और हाइपर थायराइड। महिलाएं ज्यादातर हाइपो थायराइड की शिकार होती हैं जिसमें वजन तेजी से बढ़ने लगता है। वहीं इसके कारण अनियमित पीरियड्स, प्रेगनेंसी में दिक्कत, अनचाहे बाल, बढ़ता हुआ या कम होता वजन, सुस्ती थकान, कमजोर इम्यूनिटी, चेहरे व आंखों में सूजन, कब्ज आदि कि समस्या होने लगती है।

किन महिलाओं को होती है अधिक समस्या
. मेनोपॉज और प्रेगनेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में बहुत से हार्मोनल बदलाव होते हैं इसलिए इस समय थायराइज की आशंका 9 गुना बढ़ जाती है।


. वहीं बढ़ती उम्र, कार्बोहाइड्रेट्स न लेने, ज्यादा नमक या सी-फूड खाने वाली महिलाओं को इसका खतरा अधिक होता है।

. शरीर में आयोडीन व विटामिन बी12 की कमी भी इस बीमारी का कारण बनता है। कम फिजिकल एक्टिविटी और गलत डाइट या ज्यादा तनाव व टेंशन लेने से भी आप इसकी चपेट में आ सकती है।

दवा के साथ डाइट भी है जरूरी
अगर थायराइड की परेशानी ज्यादा है तो डॉक्टर इसके लिए दवा लेने की सलाह लेते हैं। वहीं सही डाइट व डेली रूटीन से भी इस पर काबू पाया जा सकता है।

चलिए आपको बताते हैं कि थायराइड से ग्रस्त महिलाएं अपनी डाइट में क्या ले और क्या नहीं।

क्या खाएं?
डाइट में नट्स, सेब, सिट्स फ्रूटस, दाल, कद्दू के बीज, दही, संतरे का रस, आयोडीन युक्त चीजें, नारियल तेल, अदरक, हरी सब्जियां, साबुत अनाज, ब्राउन ब्रैड, ऑलिव ऑयल, लेमन, हर्बल और ग्रीन टी, अखरोट, जामुन, स्ट्रॉबेरी, गाजर, हरी मिर्च, बादाम, अलसी के बीज, शहद शामिल करें।


क्या न खाएं?
सोया प्रोडक्ट, रेड मीट, पैकेज्ड फूड, बेक्ररी आइट्म, जंकफूड, नाशपाती, मूंगफली, बाजरा, फूलगोभी, शलगम, पास्ता, मैगी, व्हाइट ब्रेड, सॉफ्ट ड्रिंक, अल्कोहल, कैफीन, ज्यादा मीठी चीजों से परहेज करें।

शराब और सिगरेट से भी बनाएं दूरी
शराब और सिगरेट का सेवन शरीर के लिए कितना हानिकारक है यह तो सभी जानते हैं। इससे थायराइड के साथ अन्य बीमारियों का खतरा भी रहता है इसलिए इससे दूरी बनाना ही आपकी सेहत के लिए फायदेमंद होगा।

अब जानते हैं कुछ घरेलू नुस्खे

  • . रोजाना हल्दी वाला दूध पीने से भी थायराइड कंट्रोल में रहता है। आप चाहें तो हल्दी को भूनकर भी खा सकती हैं।
  • . प्याज को दो हिस्सों में काटकर सोने से पहले थायराइड ग्‍लैंड के आस-पास क्‍लॉक वाइज मसाज करें। कुछ दिन लगातार ऐसे करने से आपको इसके नतीजे दिखने शुरू हो जाएगें।
  • . हरा धनिया को पीसकर चटनी बना लें। इसे 1 गिलास पानी में घोलकर रोजाना पीने से थायराइड कंट्रोल में रहेगा।
  • . 50 ग्राम त्रिकुटा चूर्ण (Trikatu) और 100 ग्राम बहेडा (Baheda) मिलाकर 1 ग्राम शहद के साथ लें। इससे थायराइड की समस्या जड़ से खत्म हो जाएगी।
  • . इसके अलावा खाली पेट शीशम, नीम, तुलसी, एलोवेरा और गिलोय के 5-7 पत्ते चबाने से भी थायराइड कंट्रोल में रहता है।

थायराइड के लिए योग
डाइट, घरेलू नुस्खे के अलावा योग से भी इसे कंट्रोल में रखा जा सकता है। इसके लिए रोजाना कम से कम 15-20 मिनट कपालभाति, उज्जायी प्राणायाम, सर्वांगासन, मेडीटेशन, शवासन या हलासन में से कोई एक आसन करें।


साथ ही तनाव मुक्त रहें और हैल्दी लाइफस्टाइल अपनाएं। याद रखें कि हेल्दी लाइफस्टाइल को फॉलो करके ही आप थायराइड को कंट्रोल कर सकती हैं।