नई दिल्ली । श्री धार्मिक रामलीला कमेटी द्वारा लाल किले में आयोजित दशहरा  कार्यक्रम में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी शामिल हुए। सोनिया और मनमोहन ने भगवान राम, लक्ष्मण और माता सीता की आरती की और तिलक लगाया। इसके बाद यहां रावण दहन किया गया। इससे पहले सोनिया ने विजयादशमी पर अपने शुभकामना संदेश में कहा, ‘‘आज का दिन जहां एक तरफ़ नारी-शक्ति का महत्व इंगित करता है, वहीं दूसरी ओर यह हमारे जीवन में मर्यादाओं के अनुपालन का भी संदेश देता है। आज का दिन हमें यह भी स्मरण कराता है कि स्वर्ण की वैभवशाली सत्ता में रहने के बावजूद अहंकार हर हाल में हारता है और सत्य की जीत सुनिश्चित होती है।’’ सोनिया ने सभी के जीवन में सुख, समृद्धि और शांति की कामना भी की।
यहां पर पुतलों के लिए पटाखों का इस्तेमाल नहीं किया गया। आयोजकों ने वायु प्रदूषण को कम करने के लिए यह कदम उठाया। पटाखों की आवाज के लिए यहां अलग से साउंड की व्यवस्था की गई थी और पिछले साल के 125 फुट के रावण के पुतले के मुकाबले 60 फीट का ही रावण बनाया गया था।