रीवा। जिल में पटवारी दो दिन के सामूहिक अवकाश के बाद तीसरे दिन से अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले गए। जिससे राजस्व विभाग का काम पूरी तरह प्रभावित हो गया है। पिछले कई दिन से राजस्व विभाग की व्यवस्था चरमरा गई है। काम प्रभावित होने पर आरइआर और तहसीलदारों के भरोसे व्यवस्था चल रही है।

कलेक्ट्रेट के सामने प्रदर्शन

शुक्रवार को पटवारियों ने तहसीलों में बस्ता जमाकर कलेक्ट्रेट के सामने धरना-प्रदर्शन शुरू कर दिया है। उधर, पटवारी संघ का प्रतिनिधि मंडल शनिवार को राजस्व मंत्री से मिलने के लिए भोपाल जा रहा है। प्रदेश के उच्चा शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी के बयान से भडक़े पटवारी माफी मांगवाने पर अड़े हुए हैं। तीसरे दिन अनिश्चित कालीन धरना शुरू कर दिया है।

उच्च शिक्षा मंत्री के खिलाफ मोर्चा

जिले के 400 से अधिक पटवािरयों ने संबधित तहसीलों में बस्ता जमा कर मंत्री के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। कलेक्टर कार्यालय के सामने प्रदर्शन कर रहे पटवारियों ने कहा कि उच्च शिक्षा मंत्री के द्वारा शत प्रतिशत पटवारी भ्रष्ट्राचार कर रहे हैं के बयान से पटवारियों को आघात पहुंचा है। सभी पटवारी इस तरह से नहीं हैं। प्रदर्शन कर रहे पटवारियों ने मंत्री को माफी मांगने के आंदोलन में ग्रेड-पे को भी शामिल कर लिया है।

ग्रेड-पे बढ़ाने शुरू किया प्रदर्शन

जिलाध्यक्ष अनंत सिंह ने बताया कि कांग्रेस सरकार के बचन पत्र में पटवारियों के ग्रेड-पे बढ़ाने जाने का जिक्र किया गया है। इस लिए आंदोलन के साथ पटवारियों का ग्रेड-पे बढ़ाने के मुद्दे को शामिल कर लिया गया है। पटवारियों ने कहा कि 2100 से ग्रेड-पे बढ़ाकर 2800 किया जाए। प्रदर्शन के दौरान जवाहर शुक्ला, सीमा सिंह, कल्पना, वीरेन्द्र द्विवेदी सहित सैकड़ो की संख्या में पटवारी धरने पर बैठे रहे।

न्यूज़ सोर्स : Good Morning TV