बिलासपुर । लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण, चिकित्सा शिक्षा मंत्री टी.एस. सिंहदेव ने आज यहां सिम्स परिसर में विभागीय समीक्षा बैठक ली। बैठक में बिलासपुर विधायक शैलेष पाण्डेय, तखतपुर विधायक श्रीमती रश्मि सिंह, संभागायुक्त भरत लाल बंजारे, बिलासपुर कलेक्टर डॉ.संजय अलंग, रायगढ़ कलेक्टर यशवंत कुमार, कोरबा कलेक्टर श्रीमती किरण कौशल, मुंगेली कलेक्टर सर्वेश्वर भूरे सहित संभाग के सभी जिलों के मुख्य चिकित्सा अधिकारी मौजूद रहे। समीक्षा बैठक में आयुष्मान योजना के साथ अस्पतालों में स्वास्थ्य सुविधाओं पर चर्चा की गई। श्री सिंहदेव ने सभी चिकित्सा अधिकारियों को निर्देश दिये कि सरकारी अस्पताल में इलाज उपलब्ध होने के बाद भी यदि निजी अस्पतालों में मरीजों को रिफर किया गया तो कड़ी कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने कहा कि अस्पतालों में जिन दवाईयों की आवश्यकता है, उनकी मांग सीजीएमएससी से समय से करें, जिससे आवश्यकता के समय दवाईयां उपलब्ध हो सके। दवा खरीदी के लिये सरकार के पास पर्याप्त राशि उपलब्ध है। किसी भी अस्पताल से दवा की कमी से संबंधित शिकायत नहीं होनी चाहिये। जिन क्षेत्रों में मौसमी बीमारियां ज्यादा होती हैं। वहां पहले से ही आवश्यक तैयारियां करके रखें। ऐसे चिन्हित स्थानों पर स्वास्थ्य और जागरूकता शिविर आयोजित करें। 
श्री सिंहदेव ने आयुष्मान योजना की समीक्षा करते हुए कहा कि ये देखने में आ रहा है कि सरकारी अस्पताल कम संख्या में क्लेम कर रहे हैं। जबकि सरकारी अस्पतालों में अधिक मरीज आते हैं। चिकित्सा अधिकारियों ने जानकारी दी कि पेपर वर्क अधिक होने और स्टॉफ कम होने के कारण क्लेम धीमी गति से हो रहे हैं। इस पर श्री सिंहदेव ने निर्देश दिये कि क्लेम के पेपर वर्क के लिये जो भी स्टॉफ की आवश्यकता है उसे तुरंत पूरा करें। इससे कुछ लोगों को रोजगार भी मिलेगा और क्लेम भी प्राप्त हो सकेगा। सिम्स के नर्सिंग स्टॉफ ने श्री सिंहदेव से वार्डों में उनके लिये वॉशरूम ना होने की बात कही। इस पर उन्होंने सिम्स के डीन को तत्काल वॉशरूम बनवाने के निर्देश दिये। उन्होंने सिम्स के मेडिकल स्टूडेंट से भी चर्चा की और उनकी समस्याएं सुनी। श्री सिंहदेव ने पीडब्ल्यूडी के अधिकारियों को एक सप्ताह के अंदर मेडिकल स्टूडेंट की हॉस्टल से संबंधित समस्याएं दूर करने के निर्देश दिये। उन्होंने छात्रों से कहा कि यदि एक सप्ताह के अंदर आपकी समस्याएं नहीं सुलझाई जाती है तो मुझे फोन पर अवगत करायें। श्री सिंहदेव से तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने भी अपनी मांगे और समस्याएं रखी। जिस पर उन्होंने शीघ्र निराकरण का आश्वासन दिया। टी.एस.सिंहदेव ने स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने निजी अस्पतालों के डॉक्टर्स और डेंटिस्ट से भी चर्चा की।