रीवा। क्षेत्र में प्रधानमंत्री सड़क योजना अफसरों के अनदेखी की भेंट चढ़ गई है। सिरमौर तहसील क्षेत्र के धरी गांव में निर्माणाधीन प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना को अधूरा छोड़ दिया गया है। जिससे ग्रामीणों को फजीहत हो रही है। तीन दिन पहले बारिश होने के बाद अधूरी सड़क पर दलदल हो गया है। विद्यालय पहुंचने के लिए बच्चे वाहनों में धक्के लगा रहे हैं। सड़क खराब होने के चलते कई बच्चों ने स्कूल छोड़ दिया है।

कई बार की जा चुकी है शिकायत

सिरमौर तहसील क्षेत्र के धरी ग्राम पंचायत के सरपंच सहित ग्रामीणों ने कलेक्टर सहित विभागीय अधिकारियों को फोटो ग्राफ के साथ आवेदन देकर बताया कि धरी ग्राम पंचात को जोडऩे मुख्य मार्ग से जोडऩे के लिए प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत सड़क का निर्माण कराया जा रहा है। खम्हरिया गांव में करीब 500 मीटर सड़क का निर्माण अधूरा छोड़ दिया गया है। सरकारी जमीन पर अतिक्रमण के चलते सड़क निर्माण को रोक दिया गया है। जिससे ग्रामीणों को मुख्य मार्ग तक पहुंचने में दिक्कत हो रही है। तीन दिन पहले बारिश के बाद अधूरी सड़क पर चलना मुश्किल हो गया है। बारिश के चलते सड़क पर मुरुम पर दलदल हो गया है। जिससे इस मार्ग पर आने वालों को दिक्कत हो रही है। सोमवार को स्कूली बच्चों के वाहन दलदल में फंस गए। विद्यालय पहुंचने के लिए एक निजी विद्यालय के बच्चों को वाहनों में धक्के लगाना पड़ा।

2500 आबादी में नहीं है सड़क

सिरमौर क्षेत्र के धरी ग्राम पंचायत सरपंच सहित ग्रामीणों की ओर से दिए गए आवेदन के अनुसार खम्हरिया गांव में सरकारी जमीन पर अतिक्रमण कर लिया गया है। अतिक्रमण नहीं हटाए जाने के चलते करीब 500 मीटर प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना को अधूरा छोड़ दिया गया है। जिससे 2500 आबादी वाली धरी ग्राम पंचायत में आने जाने का कोई रास्ता नहीं है। आए दिन रास्ते को लेकर विवाद की स्थित उत्पन्न होती है। आवेदन देने पहुंचने लक्ष्मीकांत द्विवेदी, राकेश दाहिया, संजय, गयाउद्दीन सहित अन्य ग्रामीणों ने कलेक्टर का ध्यान आकृष्ट कराते हुए सड़क का निर्माण पूरा कराए जाने की मांग उठाई है।
 

न्यूज़ सोर्स : Good Morning Rewa