रायपुर। छत्तीसगढ़ सरकार के खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री अमरजीत भगत आज यहां रायपुर जिले के आरंग विकासखण्ड के ग्राम बकतरा व विकासखण्ड मुख्यालय तिल्दा स्थित धान संग्रहण केन्द्र और स्टेट वेयरहाउस कॉर्पोरेशन के गोदाम तथा बलौदाबाजार-भाटाभारा जिले के ग्राम हथबंद स्थित धान संग्रहण केन्द्रों का औचक निरीक्षण कर वहां की व्यवस्थाओं का जायजा लिया। इस अवसर पर खाद्य विभाग के सचिव कमलप्रीत सिंह, विशेष सचिव एलेक्स पॉल मेनन, प्रबंध संचालक मार्कफेड मौ. अब्दुल कैसर हक भी साथ थे।
मंत्री अमरजीत भगत ने संग्रहण केन्द्रों में बारिश से धान के बचाव के लिए की गयी व्यवस्थाओं का जायजा लिया और संग्रहण केन्द्रों में शेष बचे धान का भी शीघ्र निराकरण सुनिश्चित करने के निर्देश विभागीय अधिकारियों को दिए। मंत्री अमरजीत भगत ने कहा कि बारिश से धान भीगने की शिकायत मिली थी जिसे संज्ञान में लेते हुए आज इन केन्द्रों का निरीक्षण किया गया। बारिश से धान भीगने की शिकायत सही नही मिली परंतु अधिकारियों को संग्रहण केन्द्रों में बचे धान का शीघ्र उठाव सुनिश्चित करने के निर्देश दिए गए है। उन्होंने कहा कि एफ सी आई के गोदामों में जगह नही होने के चावल जमा नही हो पा रहा है जिससे संग्रहण केन्द्रों में धान बचा है। जिसका भी शीघ्र निराकरण के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया गया है।
श्री भगत ने कहा कि मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ सरकार द्वारा 2500 रूपए प्रति क्विंटल की दर से किसानों से धान खरीदा जा रहा है। राज्य सरकार ने अल्प कालीन कृषि ऋण को माफ कर किसानों की सबसे बड़ी चिंता को दूर कर दिया है। खरीफ फसल के लिए सहकारी समितियों के माध्यम से बीज, खाद और ऋण का वितरण तेजी से जारी है।