नई दिल्ली। संसद में इन दिनों बजट सत्र (budget sessdion 2019) चालू है। इस दौरान कांग्रेस ने आज (बुधवार) राज्यसभा में पेश होने के लिए सांसदों को तीन लाइन का व्हिप जारी किया है। मंगलवार को लोकसभा में नए सदस्यों के शपथ ग्रहण से कार्यवाही की शुरुआत की गई। इसके बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद द्वारा दिए गए अभिभाषण पर जवाब दिया। इस दौरान पीएम ने कांग्रेस पर जमकर वार भी किया।
- आज लोकसभा में भाजपा केंद्रीय शैक्षिक संस्थान (शिक्षक संवर्ग में आरक्षण) विधेयक, 2019, भारतीय चिकित्सा परिषद (संशोधन) विधेयक, 2019, दंत चिकित्सक (संशोधन) विधेयक, 2019 इसपर विचार और पारित करने के लिए विचार विमर्श किया जाएगा। Aaadhar और अन्य कानून (संशोधन) बिल 2019, होम्योपैथी केंद्रीय परिषद (संशोधन) विधेयक 2019 RAJYA SABHA में बिल विचार और पारित करने के लिए बिल , विशेष आर्थिक क्षेत्र (संशोधन) विधेयक 2019 पेश करेगी।

- साथ ही एसईजेड (संशोधन) विधेयक को राज्यसभा में व्यापार के लिए सूचीबद्ध किया गया है।- केंद्रीय संसदीय कार्य मंत्री और कर्नाटक से भाजपा सांसद प्रह्लाद जोशी ने कहा कि लोगों ने उन्हें (कर्नाटक सीएम एचडी कुमारस्वामी को) सीएम बनने के लिए वोट नहीं दिया। वह सीएम क्यों हैं? कांग्रेस के साथ अस्वस्थ गठबंधन के साथ, वह सीएम बन गए। अब, उसने अपना मानसिक संतुलन खो दिया है, खासकर इस वजह से क्योंकि उसका बेटा चुनाव में हार गया

- कांग्रेस के अधीर रंजन चौधरी ने पश्चिम बंगाल सीएम के विपक्षी समर्थन की मांग पर कहा कि लोग कुछ कहते हैं और फिर अपने शब्दों पर वापस जाते हैं, यह उनकी व्यवहार है। अगर वह गंभीर है तो उसे हमारे वरिष्ठ नेतृत्व से बात करनी होगी। बंगाल में बीजेपी जिस तरह से बढ़ रही है, वह ममता जी की विफलताओं के कारण है।
मंगलवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कांग्रेस पर लोकसभा के बाद राज्यसभा में भी जमकर निशाना साधा। प्रधानमंत्री ने भाजपा की बड़ी चुनावी जीत के साथ इवीएम पर विपक्ष के सवाल को जनादेश ही नहीं मतदाताओं का भी अपमान बताया। इतना ही नहीं कांग्रेस द्वारा17 राज्यों में खाता नहीं खुलने पर पीएम ने कहा कि जब खुद का साम‌र्थ्य नहीं हो तो फिर हार का ठीकरा इवीएम पर फोड़ा जाता है।  
एक देश एक चुनाव को लेकर पीएम ने किया कांग्रेस पर वार 
कांग्रेस द्वारा एक देश एक चुनाव को सिरे से खारिज करने के कांग्रेस के रुख पर पलटवार करते हुए पीएम ने कहा कि चर्चा से पहले ही दरवाजे बंद करने से बदलाव नहीं आता है। पीएम ने कहा कि चुनाव में सुधार के लिए महत्वपूर्ण है कि हर चुनाव के लिए मतदाता सूची अलग-अलग बनाने की बजाय एक साथ ही होनी चाहिए और पंचायत चुनाव की मतदाता सूची इसका आधार बन सकती है। 

5 जुलाई को संसद में बजट पेश करेंगी निर्मला सीतारमण 
नवनियुक्त वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण वित्त वर्ष 2019-20 का पूर्ण बजट 5 जुलाई को लोकसभा में पेश करेंगी।  साथ ही वित्त राज्य मंत्री अनुराग ठाकुर भी होंगे। आर्थिक सर्वेक्षण संसद में चार जुलाई को पेश किया जाएगा। आर्थिक सर्वेक्षण में देश की अर्थव्यवस्था की तस्वीर पेश की जाती है। इसके बाद निर्मला सीतारमण पूर्ण बजट पेश करेंगी।