बिलासपुर । छत्तीसगढ़ पं ननि शिक्षक संघ बिल्हा में प्रांत सचिव  मनोज सनाढ्य; जिला सचिव करीम खान, जिला पदाधिकारी निर्मल कौशिक, जय कौशिक, आलोक पाण्डेय, कमल नारायण गर्हा, आशीष गुप्ता, संगीता तिवारी, सरोज आर्माे, सुनील पांडे, सुरेश कौशिक, ब्लाक पदाधिकारी इंद्रकांत सौलखे, अनवर खान, रविन्द्र शर्मा, तेजनारायण शास्त्री, राजेश शुक्ला, सुशील कैवर्त, संजय यादव, धीरेन्द्र पांडे , पंकज शुक्ला, मालती शर्मा, शकुंतला सोनी, आशुतोष शुक्ला, धीरेन्द्र यादव, माधुरी कौशिक, कुशल दास महंत, अवधेश विमल, गुहाराम सूर्यवंशी, सालिक राम पांडे, अविनाश, योगेंद्र, मोती राम खांडे, कंचन शर्मा, पूनम सिंह, सहित संघ के प्रतिनिधि मंडल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव, सहित अन्य विभागीय व सचिवों के नाम शिक्षक संवर्ग के सम्पूर्ण संविलियन क्रमोन्नति/समयमान, पदोन्नति, पुरानी पेंशन बहाली, अनुकंपा नियुक्ति सहित अन्य मांगो को लेकर विकासखंड शिक्षाअधिकारी बिल्हा एवं मुख्यकार्यपालन अधिकारी जनपद पंचायत बिल्हा को ज्ञापन सौंपा। संघ का कहना है कि १ जुलाई २०१९ को करीब १६ हजार शिक्षको का संविलियन किया जा रहा है, शेष १९ हजार शिक्षको के संविलयन किये जाने से सरकार की जन घोषणा पत्र का वादा पूरा हो जाएगा। अभी २ वर्ष पूर्ण करने वाले शिक्षको का संविलियन नही किये जाने पर वे स्वत: पूर्व के नियमानुसार संविलियन प्राप्त करेंगे, अत: २ वर्ष पूर्ण कर चुके समस्त शिक्षक संवर्ग का एक साथ संविलियन किया जाए।जन घोषणा पत्र में १९९८ से नियुक्त जो अब तक पदोन्नति प्राप्त नही किये है, उन्हें क्रमोन्नति वेतनमान दिए जाने का उल्लेख है, वर्तमान में पूर्व सेवा के आधार पर १० वर्ष की सेवा पूर्ण करने वाले अलग अलग शिक्षको की संख्या लगभग ४४ हजार है, जिन्हें क्रमोन्नति वेतनमान का लाभ मिल सकता है। प्रदेश के प्राथमिक शाला में २२ हजार प्रधान पाठक के पद रिक्त है, जिसमे १०० फीसदी पद पर सहायक शिक्षक एल बी से पदोन्नति होगी, प्रधान पाठक मा शाला के ४ हजार पद पर शिक्षक एल बी की पदोन्नति हो सकती है, वही प्राचार्य के १२६० पद पर व्याख्याता एल बी से पदोन्नति सम्भव है, जबकि शिक्षक व व्याख्याता के पद पर ६२०० सहायक शिक्षक व शिक्षक की पदोन्नति होगी। पदोन्नति होने से सहायक शिक्षको की वेतन विसंगति भी समाप्त हो जाएगी, क्योकि वे उच्च वर्ग में जाएंगे, साथ ही सहायक शिक्षको के वेतनमान को  व्याख्याता, शिक्षक के अनुपात में अंतर कर निर्धारित करने की मांग शामिल है। जनघोषणा पत्र में पुरानी पेंशन बहाली पर कार्यवाही की बात शामिल है, यह मांग भी शिक्षको का मुख्य विषय है, प्रदेश में पं/ननि की सेवा के दौरान शिक्षको के आकस्मिक निधन के बाद सैकड़ो परिवार को नियम को शिथिल कर पहले अनुकम्पा नियुक्ति देने की मांग प्रमुखता से शामिल है। इसके साथ ही पूरक मांग, व स्थानीय मांग भी किया गया।