इन्दौर । सपना-संगीता के पीछे, अशोक नगर स्थित ओशो ग्लीम्पस पर आयोजित ओशो के नादब्रम्ह ध्यानयोग शिविर में महात्मा गांधी अंतर्राष्ट्रीय विवि वर्धा-नागपुर के प्राध्यापक डॉ. कृष्णचंद्र पांडे, मीनाक्षी पांडे एवं वैष्णवी पांडे सहित चार लोगों ने पहुंचकर शिविर का लाभ उठाया। 
प्रशिक्षक प्रेम गरिमा से मुलाकात के दौरान डॉ. पांडे ने कहा कि वे ओशो के प्रशंसक हैं और उनके ध्यान योग से उन्हें काफी लाभ हुआ है। इंदौर में ओशो ग्लीम्पस की जानकारी मिलने पर वे अपने साथियों सहित शिविर में पहुंचे और खुलकर अपने अनुभव साझा किए। उन्होंने कहा कि ओशो के साहित्य में भी उनकी दिलचस्पी रही है। इंदौर के इस केंद्र पर ओशो के साहित्य में भी उन्होंने काफी रूचि दिखाई। 
प्रेम गरिमा के अनुसार ओशो ग्लीम्पस पर नादब्रम्ह ध्यानयोग का प्रशिक्षण जारी है जिसमें प्रतिदिन बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं भाग ले रहे हैं। नादब्रम्ह ध्यान योग से उच्च शिक्षा एवं प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारियों में जुटे छात्र-छात्राओं के लिए तनाव एवं अवसाद से मुक्ति, याददाश्त बढ़ाने, पढ़ाई के लिए उपयुक्त नियमित दिनचर्या तथा अपनी लुप्त हो रही प्रतिभा को फिर से अर्जित करने जैसे उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए प्रातः 7.30 से 8.30 तक प्रशिक्षण शिविर का आयोजन किया जा रहा है। अब तक यहां 300 से अधिक छात्र-छात्राएं लाभ उठा चुके हैं।