चंडीगढ़। भारतीय हॉकी टीम की उपकप्तान और गोलकीपर सविता पूनिया को अब भी एक सरकारी नौकरी मिलने का इंतजार है। सविता पिछले एक दशक से हरियाणा सरकार से सरकारी नौकरी की गुहार लगा रही हैं, पर  अभी तक उन्हें केवल आश्वासन ही मिले हैं।  सविता ने कहा कि सरकार हमेशा से यही कहती रही है कि अभी पॉलिसी बन रही है। इससे निराश सविता ने कहा ' मुझे नहीं मालूम कब हरियाणा सरकार की पॉलिसी बनेगी और कब मुझे नौकरी मिलेगी हालांकि उन्हें खेल मंत्री राज्यर्धन सिंह राठौड़ ने जल्द से जल्द नौकरी देने का भरोसा दिलाया है।' सविता ने कहा उन्हें अर्जुन अवॉर्ड मिलने का श्रेय पूरी भारतीय टीम, स्टाफ और परिवार को जाता है। परिवार ने सहयोग दिया और टीम के बिना कोई कामयाबी और जीत संभव नहीं है।