जबलपुर। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने शनिवार को यहां कहा कि प्रदेश में अभी सरकार बदली है अब इतिहास बदलेगा। खाली खजाने वाली सरकार की कमान संभालने के बाद भी हमने किसानों की कर्जमाफी वायदा पूरा किया। मात्र ५३ दिनों में हमारी सरकार ने अपने वचनपत्र के २६ वचन पूरा कर डाले। श्री नाथ जबलपुर में पहली बार आयोजित प्रदेश मंत्रीमंडल की बैठक के बाद शक्तिभवन के पुस्तकालय हॉल में पे्रस ब्रीफिंग में पत्रकारो को संबोधित कर रहे थे।
श्री नाथ ने कहा कि प्रदेश के सभी तहसीलों में कर्जमाफी के लिये बैंकों की टेबल लगवाई जाएगी ताकि किसानों के दो लाख तक कर्जमाफी और करंट खाते की बकाया राशि माफी का नो ड्यूज सर्टिफिकेट बैंकों द्वारा स्थल पर दिया जाए। इसके बाद सरकार किसानों का सम्मान करेगी। उन्होंने कहा कि २ मार्च तक प्रदेश के लगभग २५ लाख किसानों के कर्ज माफ कर दिये जाएंगे। 
जबलपुर का उपेक्षित इतिहास बदलेगा....
श्री नाथ ने कहा कि मुख्यमंत्री बनने के बाद वैâबिनेट बैठक के साथ ही मेरा पहला जबलपुर दौरा है। यह दौरा कई मायनों में खास रहेगा। हमारी सरकार जबलपुर का उपेक्षित इतिहास बदलेगी। नए दृष्टिकोण से जबलपुर को देखने की जरुरत है। उन्होंने कहा कि महाकोशल से मेरा लगाव है लेकिन मैं पूरे मध्यप्रदेश का मुख्यमंत्री हूं फिर भी जबलपुर का विशेष ध्यान रखा जाएगा।
किसान और नौजवान हमारी चुनौती......
श्री नाथ ने कहा कि पिछली सरकार ने पूरी तिजोरी खाली कर दी थी। हमारे सामने धन व्यवस्था के अलावा किसान और नौजवानों का रोजगार बड़ी चुनौती है। सरकार का पूरा ध्यान इस पर क्रेन्दित है। हमारी सरकार जिलेवार किसान और युवाओं को रोजगार देने के लिये नीति बना रही है। 
फार्मा, कृषि, पर्यटन और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंट हब बनाएंगे.....
श्री नाथ ने कहा कि प्रदेश में फार्मास्युटिकल, टूरिज्म, कृषि और आर्टिफिशियल इंटेलीजेंट हब बनाने की काफी संभावनाएं हैं। सरकार इन्हें साकार करने गंभीरता से काम कर रही है। उद्योग-धंधा, कृषि और पर्यटन की क्षेत्रवार नीतियां बनाने की आवश्यकता है। एक ही नीति से प्रदेश को नहीं चलाया जा सकता। 
२९ मार्च को निवेशकों के साथ होगी बैठक .....
उन्होंने कहा कि सरकार बदलने के साथ ही निवेशकों की भरोसा बढ़ा है। २९ मार्च को भोपाल में देश के बड़े निवेशकों की बैठक आयोजित है। इस बैठक में निवेशकों की सुनी जाएगा। निवेश के लिये वो सरकार से जो सहूलियत चाहते हैं वह उन्हें दी जाएगी।
नीति और नियत पर कोई ऊंगली नहीं उठा सकता....
एक सवाल के जवाब में श्री नाथ ने कहा कि विपक्ष ५३ दिनों की सरकार पर ताने कस रहा है मगर मैं साफ कर दूं कि कोई भी कमलनाथ की नीतियों और नियत पर ऊंगली नहीं उठा सकता। 
लोकसभा में जनता फिर विश्वास दिखाएगी.....
उन्होंने कहा कि हमारी सरकार जितनी तेजी से काम कर रही है। जमीनी व्यवस्था चुस्त-दुरुस्त कर रही है। जिस तरह वचनपत्र पूरे करती जा रही है उससे हमें विश्वास है कि लोकसभा चुनाव में प्रदेश की जनता हमारे साथ रहेगी।
स्वास्थ्य सेवाएं सुधारेंगे........
उन्होंने कहा कि अभी जबलपुर मेडीकल अस्पताल में कई जिलों का भार है। इसलिये छिंदवाड़ा में नया मेडीकल कॉलेज खोला जा रहा है ताकि जबलपुर मेडीकल कॉलेज का दबाव कम हो सके। यहां की स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर बनाने प्रयास प्रारंभ कर दिये गये हैं।
३ दिसंबर को मनाया जाएगा एडवोकेट्स डे.....
श्री नाथ ने बताया कि जजेज सम्मेलन में उन्होंने न्यायपालिका को विश्वास दिलाया है कि उनकी आवश्यकताओं को प्राथमिकता से पूरा किया जाएगा। अदालतें प्रजातंत्र का खास स्तंभ है। अधिवक्ताओं की सुविधाआें पर भी विशेष ध्यान दिया जा रहा है। इसी के मद्देनजर ३ दिसंबर को एडवोकेट्स डे मनाने की घोषणा की है।
ये रहे मौजूद.......
श्री नाथ की प्रेस ब्रीफिंग में सांसद विवेककृष्ण तंखा, मंत्री पीसी शर्मा, लखन घनघोरिया, तरुण भानोत, सुरेन्द्र सिंह बघेल एवं कमलेश्वर पटैल मौजूद रहे।